शारजाह: ट्रेब्लेजर्स ने अपने शानदार हरफनमौला प्रदर्शन के दम पर सोमवार को शराजाह स्टेडियम में खेले गए फाइनल की तुलना में दो बार के चैंपियंस सुपरनोवाज को 16 रनों से घोते हुए विमेंस टी 20 चैलेंज के तीसरे सीजन के खिताब जीत लिया। ट्रैब्लेजर्स पहली बार चेनियन बनीं। ट्रेब्लेजर्स ने टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवरों में 8 विकेट पर 118 रन बनाए। सुपरनोवाज टीम निर्धारित 20 ओवरों में सात विकेट पर 102 रन ही बना सकीं। उसकी ओर से कप्तान हरमनप्रीत कौर ने 30 रनों की पारी खेली।

ट्रेब्लेजर्स की ओर से सलमा खातून ने सबसे अधिक तीन विकेट लिए। दीप्ति शर्मा को भी बहुत सफलता मिली। इसके अलावा सोफी एस्लेस्टन ने एक विकेट हासिल किया। इस तरह ट्रेब्लेजर्स ने 2018 के पहले संस्करण के फाइनल में सुपरनोवाज से मिली हार का हिसाब बराबर कर लिया और साथ ही साथ उसे खिताबी हैट्रिक से भी रोक दिया।

सुपरनोवाज की शुरुआत अच्छी नहीं रही। अपने पिछले ही मैच में शानदार अर्धशतक लगाने वाली चमारी अटापट्टू 6 रन बनाकर ही आउट हो गए। चमारी का विकेट 10 के कुल योग पर गिरा। इसके बाद 30 के कुल योग पर तानिया भाटिया (14) भीलेजेलियन लौट आए।

चमारी को सोफी एसलेस्टन ने आउट किया जबकि तानिया को दीप्ति शर्मा ने अपनी जाल में फंसाया। जेमिमाह रोड्रिगेज से बड़ी पारी की उम्मीद थी लेकिन वह भी 13 रनों के निजी योग पर आउट हो गए। जेमिमाह का विकेट भी दीप्ति ने लिया। जेमिमाह का विकेट 37 के कुल योग पर गिरा।

इसके बाद कप्तान हरमनप्रीत और शशिकला श्रीवर्धने (19) ने चौथे विकेट के लिए 37 रनों की साझेदारी कर टीम को मजबूती प्रदान की और लक्ष्य की ओर अग्रसर किया। शशिकला का विकेट 74 के कुल योग पर गिरा। शशिकला ने 18 गेंदों पर एक चौका लगाया। उनका विकेट सलमा खातून ने लिया।

अब कप्तान का साथ देने अनुजा पाटिल (8) आई.एन. अंतिम 12 गेंदों में सुपरनोवाज को जीत के लिए 28 रनों की जरूरत थी। दारोमदार कप्तान पर था। सलमा खातून ने हालांकि कप्तान को तो नहीं पर अनुजा को रन आउट कर सुपरनोवाज को पांचवां झटका दिया। अगली ही गेंद पर सलमा ने इस मैच का सबसे बड़ा विकेट निकालते हुए कप्तान कौर पर आउट कर दिया।

कौर ने 36 गेंदों पर दो चौके लगाए। अब सुपरनोवाज की हार तय थी। नौ गेंदों पर उसे 26 रन चाहिए थे। सलमा यहीं नहीं रूकीं। अपने इसी ओवर में उन्होंने पूजा वस्त्रकार (0) को आउट कर सुपरनोवाज को सातवां झटका दिया।

राधा यादव 5 और साकेरा सलमान 4 रनों पर नाबाद लौटीं। इससे पहले, राधा यादव (16-5) की शानदार स्पिन गेंदबाजी के आगे बेडम ट्रॉलेजर्स टीम तमाम कोशिशों के बावजूद 118 रन ही बना सकी। ट्रेब्लेजर्स के लिए सबसे अधिक 68 रन कप्तान स्मृति मंधाना ने बनाए रखे। मंधाना ने 49 गेंदों का सामना करते हुए पांच चौके और तीन छक्के लगाए। दिएंद्रा डॉटिन के बल्ले से 20 रन निकले।

बाकी कोई भी अपनी क्षमता के साथ न्याय नहीं कर सकी और स्पिन की जाल में ऐसी फंसी कि जो टीम एक समय मजबूत स्कोर की ओर जाती दिख रही थी, वह 20 ओवरों की समाप्ति तक 8 विकेट पर 118 रन ही बना सकी। अंतिम ओवर राधा यादव ने डाला और इस ओवर में सिर्फ एक रन बना जबकि ट्रबलेजर्स ने इस ओवर में चार विकेट गंवाए। तीन बल्लेबाजों को राधा ने चलता किया जबकि एक रन आउट हुआ।

आलम यह था कि DWIN और मंधाना ने इस टीम के लिए पहले विकेट के लिए 71 रनों की साझेदारी की। डीओटीआईएन 71 और मंधाना 101 के कुल योग पर आउट हुआ। इसके बाद तो आने और जाने का सिलसिला ऐसा शुरू हुआ कि 120 रन भी बनाना भारी पड़ गया। सुपरनोवाज के लिए पूनम यादव और शशिकला ने भी एक-एक सफलता हासिल की। राधा महिला टी 20 चैलेंज में पांच विकेट हासिल करने वाली पहली गेंदबाज बन गई हैं।





Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *